raigarh express

Raigarh Express, news of raigarh chhattisgarh

Sunday, January 23, 2022
raigarh express
एक सप्ताह में सभी पात्र बच्चों को लग जाएगा कोविड का टीका
किशोरों को कोविड का टीका लगाने के मामले में रायगढ़ जिला लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। 3 जनवरी से शुरू हुए बच्चों के टीकाकरण के 17 दिनों में ही जिले के 75 प्रतिशत बच्चों को टीका लग गया है। रफ्तार अगर इसी तरह से चलती रही है तो कलेक्टर भीम सिंह और जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. भानू पटेल ने आगामी एक सप्ताह में ही सभी पात्र बच्चों के टीकाकृत होने की उम्मीद जताई है। स्वास्थ्य विभाग के टीकाकरण विभाग की मानें तो जिले के लगभग सभी स्कूलों में विभाग द्वारा टीकाकरण केंद्र बनाकर बच्चों को टीकाकृत किया जा चुका है। अब ऐसे बच्चे ही शेष बचे हैं जो स्कूल नहीं आ रहे हैं और जो हाल ही में 15 साल के हुए हैं और उन्हें अपनी पात्रता को लेकर ज्ञान नहीं है। जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और मितानिन का सहयोग ले रहा है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 20 जनवरी तक जिले में 15-17 आयु वर्ग के 75 फीसदी बच्चों को कोविड का टीका लग चुका है। कुल 93,351 बच्चों में से 69,657 बच्चों ने अभी तक पहला डोज लिया है। जिसमें सर्वाधिक तमनार ब्लॉक है जहां 85 प्रतिशत बच्चों को टीका लगा है सबसे कम घरघोड़ा ब्लॉक में 59 प्रतिशत बच्चों को टीका लगा है। तमनार में 6,128 टीनएजर्स में 5,164 को यानी 85 प्रतिशत, पुसौर में 8,481 में से 84.7 प्रतिशत यानी 7,178 को, बरमकेला में 9,064 में 7,649 को 84.6 प्रतिशत, खरसिया में 9,217 में से 7,569 टीनएजर्स को 83 प्रतिशत, लोईंग में 10,328 में 8,183 यानी 80.4 प्रतिशत, रायगढ़ शहरी क्षेत्र में 9,991 में 7,694 अर्थात 78.7 प्रतिशत, सारंगढ़ में 14,487 टीनएजर्स में से 10,078 को 70.3 प्रतिशत, लैलूंगा के 8,045 में से 5,386 बच्चों को 66.3 प्रतिशत, धरमजयगढ़ के 12,762 में से 7,989 को कुल 63.7 प्रतिशत और घरघोड़ा के 4,849 में से 2,867 यानी 59 प्रतिशत टीनएजर्स को टीका लग गया है। 11 हजार से अधिक को लगा प्रीकॉशन डोज स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 20 जनवरी तक प्रीकॉशन डोज जिले में कुल 11,332 लोगों को लगाया गया है जिसमें 4,200 हेल्थ वर्कर्स 3,543 फ्रंट लाइन वर्कर्स और 3,589 लोग 60 साल की आयु से अधिक के है। रायगढ़ शहर के 404 हेल्थ वर्कर्स, 934 फ्रंट लाइन वर्कर्स और 822 लोग 60 साल से अधिक के हैं इस तरह 2,160 लोगों को प्रीकॉशन डोज रायगढ़ शहर में लगा है। जल्द ही शत प्रतिशत पात्र बच्चों को लग जाएगा टीका :डीआईओ भानू पटेल जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. भानू पटेल कहते हैं: “जिले में 75,000 हजार बच्चों को टीका लगाया जा चुका है। बहुत जल्द ही हम पात्र बच्चों को शत प्रतिशत टीका लगाने वाला जिला बन जाएंगे। 15 साल से कम के बच्चों को टीका लगाने के लिए अभी तक कोई दिशा-निर्देश नहीं मिले हैं। फिलहाल हमारा पूरा ध्यान प्रीकॉशनरी डोज और टीनएजर्स के वैक्सीनेशन पर है। स्कूलों में जो बच्चे छूट गए हैं उसके लिए हमने एक बार फिर से जिला शिक्षा अधिकारी से आंकड़े मांगे हैं जिससे यथाशीघ्र बच्चों को टीकाकृत किया जा सके। स्वास्थ्य विभाग उन सभी पालकों से अपील कर रहा है कि अपने बच्चों को टीका लगवार कोविड संक्रमण से बचाव करें। बच्चों के लिए टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। किसी भी प्रकार के अफवाहों पर ध्यान नदें।“
आसपास
raigarh express
मौसम अलर्ट : फिर बने बारिश के आसार
मौसम
raigarh express
द मसल फैक्ट्री, युवाओं के फिटनेस का नया अड्डा
हमारे बच्चे
raigarh express
A New Threshold for Retribution
ओपिनियन
raigarh express
अब होम आइसोलेशन में 7 दिन रहना होगा
आसपास
एक सप्ताह में सभी पात्र बच्चों को लग जाएगा कोविड का टीका
किशोरों को कोविड का टीका लगाने के मामले में रायगढ़ जिला लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। 3 जनवरी से शुरू हुए बच्चों के टीकाकरण के 17 दिनों में ही जिले के 75 प्रतिशत बच्चों को टीका लग गया है। रफ्तार अगर इसी तरह से चलती रही है तो कलेक्टर भीम सिंह और जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. भानू पटेल ने आगामी एक सप्ताह में ही सभी पात्र बच्चों के टीकाकृत होने की उम्मीद जताई है। स्वास्थ्य विभाग के टीकाकरण विभाग की मानें तो जिले के लगभग सभी स्कूलों में विभाग द्वारा टीकाकरण केंद्र बनाकर बच्चों को टीकाकृत किया जा चुका है। अब ऐसे बच्चे ही शेष बचे हैं जो स्कूल नहीं आ रहे हैं और जो हाल ही में 15 साल के हुए हैं और उन्हें अपनी पात्रता को लेकर ज्ञान नहीं है। जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और मितानिन का सहयोग ले रहा है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 20 जनवरी तक जिले में 15-17 आयु वर्ग के 75 फीसदी बच्चों को कोविड का टीका लग चुका है। कुल 93,351 बच्चों में से 69,657 बच्चों ने अभी तक पहला डोज लिया है। जिसमें सर्वाधिक तमनार ब्लॉक है जहां 85 प्रतिशत बच्चों को टीका लगा है सबसे कम घरघोड़ा ब्लॉक में 59 प्रतिशत बच्चों को टीका लगा है। तमनार में 6,128 टीनएजर्स में 5,164 को यानी 85 प्रतिशत, पुसौर में 8,481 में से 84.7 प्रतिशत यानी 7,178 को, बरमकेला में 9,064 में 7,649 को 84.6 प्रतिशत, खरसिया में 9,217 में से 7,569 टीनएजर्स को 83 प्रतिशत, लोईंग में 10,328 में 8,183 यानी 80.4 प्रतिशत, रायगढ़ शहरी क्षेत्र में 9,991 में 7,694 अर्थात 78.7 प्रतिशत, सारंगढ़ में 14,487 टीनएजर्स में से 10,078 को 70.3 प्रतिशत, लैलूंगा के 8,045 में से 5,386 बच्चों को 66.3 प्रतिशत, धरमजयगढ़ के 12,762 में से 7,989 को कुल 63.7 प्रतिशत और घरघोड़ा के 4,849 में से 2,867 यानी 59 प्रतिशत टीनएजर्स को टीका लग गया है। 11 हजार से अधिक को लगा प्रीकॉशन डोज स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 20 जनवरी तक प्रीकॉशन डोज जिले में कुल 11,332 लोगों को लगाया गया है जिसमें 4,200 हेल्थ वर्कर्स 3,543 फ्रंट लाइन वर्कर्स और 3,589 लोग 60 साल की आयु से अधिक के है। रायगढ़ शहर के 404 हेल्थ वर्कर्स, 934 फ्रंट लाइन वर्कर्स और 822 लोग 60 साल से अधिक के हैं इस तरह 2,160 लोगों को प्रीकॉशन डोज रायगढ़ शहर में लगा है। जल्द ही शत प्रतिशत पात्र बच्चों को लग जाएगा टीका :डीआईओ भानू पटेल जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. भानू पटेल कहते हैं: “जिले में 75,000 हजार बच्चों को टीका लगाया जा चुका है। बहुत जल्द ही हम पात्र बच्चों को शत प्रतिशत टीका लगाने वाला जिला बन जाएंगे। 15 साल से कम के बच्चों को टीका लगाने के लिए अभी तक कोई दिशा-निर्देश नहीं मिले हैं। फिलहाल हमारा पूरा ध्यान प्रीकॉशनरी डोज और टीनएजर्स के वैक्सीनेशन पर है। स्कूलों में जो बच्चे छूट गए हैं उसके लिए हमने एक बार फिर से जिला शिक्षा अधिकारी से आंकड़े मांगे हैं जिससे यथाशीघ्र बच्चों को टीकाकृत किया जा सके। स्वास्थ्य विभाग उन सभी पालकों से अपील कर रहा है कि अपने बच्चों को टीका लगवार कोविड संक्रमण से बचाव करें। बच्चों के लिए टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। किसी भी प्रकार के अफवाहों पर ध्यान नदें।“
अब होम आइसोलेशन में 7 दिन रहना होगा
नई गाइडलाइन में 93 प्रतिशत हुआ आक्सीजन का पैमाना
24 से 30 तक 36 ट्रेनें रद्द: हावड़ा-मुंबई और कटनी रूट की कई महत्वपूर्ण गाड़ियां कैंसल
ब्रजराजनगर-ईब के बीच होना है चौथी लाइन का काम
नियमों की अनदेखी कर वाहन चला रहे हैं तो हो जाएं सावधान
चक्रधर नगर क्षेत्र में कई लापरवाह चालकों का कटा चालान
नगरीय निकाय निर्वाचन: रायगढ़ के दोनों वार्ड व सारंगढ़ के 11 वार्ड में कांग्रेस के प्रत्याशियों की जीत
नगर पालिका परिषद सारंगढ़ के 15 वार्डों में हुए आम निर्वाचन व नगर पालिक निगम रायगढ़ के वार्ड क्रमांक 09 एवं 25 में हुए उप निर्वाचन के परिणामों की मतगणना पश्चात घोषणा हुई। रायगढ़ नगर पालिक निगम वार्ड क्रमांक 9 चांदमारी में इंडियन नेशनल कांग्रेस से रंजना कमल पटेल विजयी घोषित हुई और उन्हें 957 मत मिले। इसी वार्ड से अन्य प्रत्याशियों में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) से असलम खान (डब्बू) को 101, भारतीय जनता पार्टी से श्रवण सिदार को 935, बहुजन समाज पार्टी से सुरेश कुमार सामल को 27, निर्दलीय श्रवण कुमार ध्रुव को 4 मत प्राप्त हुए। इसी तरह वार्ड क्रमांक 25 कौहाकुंडा में इंडियन नेशनल कांग्रेस की प्रत्याशी श्रीमती सपना सिदार विजयी घोषित हुई, उन्हें 887 मत मिले। इसी वार्ड से अन्य प्रत्याशियों में भारतीय जनता पार्टी से श्रीमती रश्मि गबेल को 682 एवं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) से श्रीमती सरस्वती दुर्गाचरण यादव को 75 मत मिले। qqq सारंगढ़ नगर पालिका परिषद के परिणाम नगर पालिका परिषद सारंगढ़ अंतर्गत वार्ड क्रमांक-1 इंदिरा गांधी वार्ड में निर्दलीय कमलकांत निराला चाटु विजयी घोषित किए गए, उन्हें 617 मत प्राप्त हुए। इस वार्ड से अन्य प्रत्याशियों में कांग्रेस से सरिता शाखाराम मल्होत्रा को 328, भारतीय जनता पार्टी से सविता अरविन्द हरिप्रिया को 68, निर्दलीय सीमा सुरेश रात्रे को 199 एवं निर्दलीय उषा अनंत को 13 मत प्राप्त हुए। वार्ड क्रमांक-2 पंडित जवाहर लाल नेहरू वार्ड से इंडियन नेशनल कांग्रेस से कमला किशोर निराला विजयी घोषित की गई, उन्हें 531 मत प्राप्त हुए। इस वार्ड से अन्य प्रत्याशियों में भारतीय जनता पार्टी से वंदना लहरे को 54 एवं निर्दलीय पूर्णिमा सम्मेलाल कुर्रे को 308 मत प्राप्त हुए। वार्ड क्रमांक-3 सुभाष चन्द्र बोस वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से किरण नंदु मल्होत्रा विजयी घोषित हुए, उन्हें 715 मत प्राप्त हुए। इस वार्ड से अन्य प्रत्याशियों में भारतीय जनता पार्टी से राजेश जायसवाल को 574 मत प्राप्त हुए। वार्ड क्रमांक-4 चन्द्रशेखर आजाद वार्ड में भारतीय जनता पार्टी से मयूरेश केशरवानी बंटी विजयी घोषित हुए, उन्हें 591 मत प्राप्त हुए। इस वार्ड से अन्य प्रत्याशियों में इंडियन नेशनल कांग्रेस से ईश्वर देवांगन को 537 मत प्राप्त हुए। वार्ड क्रमांक-5 अकबर गंज वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से शांति लक्ष्मण मालाकार विजयी घोषित हुई, उन्हें 1488 मत प्राप्त हुए। इसी वार्ड में भारतीय जनता पार्टी से सत्या कहार को 632 मत मिले। वार्ड क्रमांक-6 डॉ.राधाकृष्णन वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से रामप्रसाद यादव विजयी घोषित हुए, उन्हें 577 मत मिले। इस वार्ड से अन्य प्रत्याशियों में भारतीय जनता पार्टी से गणेश राम खर्रा को 265, निर्दलीय गेसदार महंत को 30 एवं निर्दलीय सविता सारथी को 68 मत प्राप्त हुए। वार्ड क्रमांक-7 लाल बहादुर शास्त्री वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से सुनील यादव विजयी घोषित हुए, उन्हें 332 मत मिले। इस वार्ड से अन्य प्रत्याशियों में भारतीय जनता पार्टी से अजय गोपाल यादव को 192 एवं निर्दलीय त्रिलोचन सुनील यादव को 125 मत प्राप्त हुए। वार्ड क्रमांक-8 शहीद भगत सिंह वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से शुभम बाजपेयी विजयी घोषित हुए, उन्हें 1038 मत मिले। इस वार्ड से अन्य प्रत्याशियों में भारतीय जनता पार्टी से मनोज कुमार जायसवाल को 620 मत मिले। वार्ड क्रमांक-9 स्वामी विवेकानंद वार्ड में भारतीय जनता पार्टी से अमित तिवारी रिंकु विजयी घोषित हुए, उन्हें 793 मत मिले। इसी वार्ड से इंडियन नेशनल कांग्रेस से प्रभा सूरज तिवारी को 595 मत मिले। वार्ड क्रमांक-10 मौलाना आजाद वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से रामनाथ सिदार विजयी घोषित हुए, उन्हें 726 मत मिले। इसी वार्ड से भारतीय जनता पार्टी से संजय सोरेंग को 261 मत मिले। वार्ड क्रमांक-11 महात्मा गांधी वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से सरिता शंकर चन्द्रा विजयी घोषित हुए, उन्हें 730 मत मिले। इसी वार्ड से भारतीय जनता पार्टी से नीलिमा सोना यादव-182 एवं निर्दलीय दंतेश्वरी विकास यादव को 250 मत मिले। वार्ड क्रमांक-12 डॉ.राजेन्द्र प्रसाद में वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से गीता महेन्द्र थवाईत विजयी घोषित हुई, उन्हें 672 मत मिले। इसी वार्ड से भारतीय जनता पार्टी से कु.ज्योति धनुषधारी आदित्य को 550 मत मिले। वार्ड क्रमांक-13 सरदार वल्लभ भाई पटेल वार्ड में भारतीय जनता पार्टी से सत्येन्द्र सिंह बरगाह (बाटा) विजयी घोषित हुए, उन्हें 1077 मत मिले। इसी वार्ड से इंडियन नेशनल कांग्रेस से अविनाश पुरी गोस्वामी-298, निर्दलीय चन्द्रभान तिवारी गुरूजी-15 एवं निर्दलीय जितेन्द्र जीतू गुप्ता को 67 मत मिले। वार्ड क्रमांक-14 डॉ.भीमराव अम्बेडकर वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से संजीता सिंह सरिता विजयी घोषित हुई और उन्हें 534 मत मिले। भारतीय जनता पार्टी से निर्मला गोलू यादव को 447 मत मिले। वार्ड क्रमांक-15 डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी वार्ड में इंडियन नेशनल कांग्रेस से श्रीमती सोनी अजय बंजारे विजयी घोषित हुई और उन्हें 723 मत मिले। इसी वार्ड में भारतीय जनता पार्टी से दुजबाई मनहर-60 तथा निर्दलीय तिलोत्मा चौहान को 65 मत मिले।
नंदकुमार पटेल की याद में पूरी छत्तीसगढ़ कांग्रेस पहुंची खरसिया
8 साल बाद आया 8 नवंबर : स्व. नंदकुमार पटेल की प्रतिमा का हुआ अनावरण, विशाल जनसभा का भी आयोजन
प्रदेश में बदले जा सकते हैं कुछ जिलों के कलेक्टर
कानून-व्यवस्था दुरुस्त रखना केवल पुलिस की जिम्मेदारी नहीं, कलेक्टर्स की भी है : भूपेश बघेल
पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह का निधन
लीवर की समस्या के चलते वैंटिलेटर पर थे छोटू बाबा
मौसम अलर्ट : फिर बने बारिश के आसार
प्रदेश में हवाओं की दिशा में परिवर्तन हो गया है। उत्तर छग में उत्तर-पूर्व तथा दक्षिण छग में दक्षिण-पश्चिम से हवाओं का आगमन प्रारंभ हो गया है। इसके कारण प्रदेश में दिनांक 21 जनवरी से 23 जनवरी न्यूनतम तापमान में 3-4 डिग्री सेल्सियस तक वृद्धि होने की सम्भावना है। जबकि अधिकतम तापमान में 22 जनवरी तक 1-2 डिग्री सेल्सियस तक वृद्धि होने की सम्भावना है, उसके बाद प्रदेश में बादल छाने तथा वर्षा का दौर प्रारंभ होने के कारण अधिकतम तापमान में सार्थक गिरावट होने की सम्भावना है। प्रदेश में कल मौसम शुष्क रहने की संभावना दिनांक 22 जनवरी को शाम/रात्रि में सरगुजा संभाग और उससे लगे बिलासपुर संभाग के जिलों में एक दो स्थानों पर हल्की वर्षा होने की सम्भावना है। साथ ही गरज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरने की सम्भावना है। दिनांक 23 जनवरी को प्रदेश के सरगुजा और बिलासपुर सम्भाग के जिलों में हल्की से मध्यम वर्षा अनेक स्थानों पर होने की सम्भावना है। एक दो स्थानों में गरज चमक के साथ ओला वृष्टि होने की सम्भावना है। दुर्ग और रायपुर संभाग के उत्तर में स्थित जिलों में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने की सम्भावना है । दुर्ग और रायपुर संभाग के शेष भाग और बस्तर संभाग के उत्तर भाग में एक दो स्थानों पर गरज चमक के साथ हल्की वर्षा होने की सम्भावना है। दिनांक 24 जनवरी को प्रदेश के सरगुजा संभाग और उससे लगे जिलों में तथा बस्तर संभाग और उससे लगे जिलों में हल्की वर्षा होने की सम्भावना है।
8 से 10 जनवरी के बीच बारिश की संभावना
बैक टू बैक दो वेस्टर्न डिस्टर्बेंस, बदलेगी हवा बदलेगा मौसम
जाते साल की सफाई, आने वाले 2-3 दिनों में बारिश की संभावना
पिछले हफ्ते के कड़ाके की ठंड बुधवार गुरुवार तक ढेर हो गयी और बीते दो दिन से आसमान में हल्के बादल छा रहे हैं इससे तापमान में वृद्धि देखी जा रही है । मौसम विज्ञान विभाग रायपुर के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉक्टर एच पी चन्द्रा के अनुसार प्रदेश के वातावरण में निम्न सतह पर नमी युक्त अपेक्षाकृत गरम हवा का आगमन प्रारंभ हो गया है। जिसके कारण प्रदेश के न्यूनतम और अधिकतम तापमान में विशेष परिवर्तन नहीं होने की सम्भावना है। प्रदेश में कल दिनांक 27 दिसंबर को मौसम मुख्यतः शुष्क रहने की संभावना है। दिनांक 28 दिसम्बर को प्रदेश के उत्तरी भाग के कुछ स्थानों में हल्की से मध्यम वर्षा होने की सम्भावना है और मध्य क्षेत्र के पश्चिमी भाग में एक दो स्थानों में हल्की वर्षा होने की सम्भावना है। दिनांक 29 दिसम्बर को प्रदेश के सरगुजा संभाग और बिलासपुर सम्भाग के अनेक स्थानों पर गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम वर्षा होने की सम्भावना है। दुर्ग और रायपुर संभाग के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने की सम्भावना है। बस्तर संभाग के उत्तरी भाग में एक दो स्थानों पर गरज चमक के साथ हल्की वर्षा होने की सम्भावना है। 31 दिसम्बर से प्रदेश में पुनः उत्तर से शुष्क और ठंडी हवा आने के कारण न्युनतम तापमान में गिरावट संभावित है। चेतावनी :- 28 और 29 दिसम्बर को सरगुजा संभाग और उससे लगे जिलों में एक दो स्थानों पर ओले गिरने की सम्भावना है । (कबीरधाम, बिलासपुर, मुंगेली, कोरिया और सूरजपुर में 28 को; सूरजपुर, सरगुजा, बलराम, जशपुर, बिलासपुर और कोरबा में 29 को) वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का खेल पश्चिमी विक्षोभ के कारण आई नमी से ठंड के मौसम में तापमान की वृद्धि अक्सर देखी जाती है , उत्तर और मध्य भारत में पष्चिमी विक्षोभ के कारण न्यूनतम तापमान में वृद्धि हो चुकी है और आने वाले 5 दिनों में लगभग पूरे देश में शीत लहर की चेतावनि नही है ।इस दौरान न्यूनतम तापमान 2 से 5 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने की सम्भवना है । इस दौरान रायगढ़ में तापमान 12 से 28 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का अनुमान है । और नए साल आते तक बादलों के रहने का अनुमान है ।
विंटर इज़ हियर : शीत लहर / कोल्ड डे की चेतावनी
बीता वीकेंड अपने साथ जाड़े के मौसम लेके आया, चक्रवातीय तूफान के बाद बीते एक पखवाड़े से बादलों के कारण न्यूनतम तापमान कम नही हो पा रहा था , शनिवार रविवार को आसमान साफ होने से ऊष्मा विकिरण (नौक्टरनल कूलिंग ) के फलस्वरूप न्यूनतम तापमान अचानक कम हुआ जिससे लोगों को दिन ढलते ही कंपाने वाली ठंड का एहसास हुआ । मौसम विज्ञान विभाग रायपुर के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉक्टर एच पी चंद्रा के अनुसार प्रदेश के बिलासपुर में 7.0 डिग्री सेल्सियस जो सामान्य से 6.1 डिग्री सेल्सियस कम है, पेंड्रा रोड में 5.7 डिग्री सेल्सियस जो सामान्य से 5.4 डिग्री सेल्सियस कम है, दुर्ग में 5.4 डिग्री सेल्सियस सामान्य से 7.9 डिग्री सेल्सियस कम है तथा राजनांदगांव में 8.7 डिग्री सेल्सियस सामान्य से 4.9 डिग्री सेल्सियस कम है। इस तरह इन सभी स्टेशनों में शीतलहर की स्थिति बनी हुई है। कृषि विज्ञान केंद्र कोरिया में 3.3 डूमर बहार में 4.4, ए डब्ल्यू एस दुर्ग में 5.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है । qqq उत्तर और पश्चिम छत्तीसगढ़ में हाड़ कंपाने वाली ठंड सबसे कम न्युनतम तापमान ANFU अम्बिकापुर में 1.0 डिग्री सेल्सियस तापमान रिपोर्ट किया है । इस तरह सरगुजा संभाग, बिलासपुर संभाग, रायपुर संभाग के कुछ पैकेट, दुर्ग संभाग के कुछ पैकेट में शीतलहर की स्थिति बना हुआ है। प्रदेश में उत्तर से ठंडी और शुष्क हवाओं का आगमन लगातार जारी है जिसके कारण प्रदेश में न्यूनतम तापमान में गिरावट का दौर जारी रहने की संभावना है। चूंकि उत्तर और मध्य छत्तीसगढ़ में तापमान में काफी गिरावट हो चुका है इसलिए उत्तर और मध्य में बहुत ज्यादा और गिरावट की संभावना कम है। बस्तर संभाग के जिलों में भी न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या इसी के आसपास है, इसलिए वहां अभी और गिरावट होने की सम्भावना है जिसके कारण बस्तर संभाग के कुछ पैकेट में शीतलहर जैसी स्थिति बनने की संभावना बढ़ रही है। प्रदेश के कुछ पैकेट में विशेषकर सरगुजा संभाग के जिलों में पाला पड़ने की संभावना है।प्रदेश के कुछ पैकेट में हल्की से मध्यम घना कोहरा बनने की संभावना है। रायगढ़ में इस दौरान न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस या उससे भी कम होने की संभावना है दिन में आसमान साफ रहने और अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस के नीचे रहने की सम्भावना है ।
द मसल फैक्ट्री, युवाओं के फिटनेस का नया अड्डा
सर्वसुविधा युक्त सामान से सजा जिले का पहला जिम
टीकाकरण के लिए 71 केंद्रो में उमड़ी किशोरों की भीड़
सुबह से ही बच्चे थे टीका को लेकर उत्साहित
राज्य स्वास्थ्य विभाग की जांच टीम पहुंची नवोदय स्कूल
कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के लिए मुस्तैद स्वास्थ्य विभाग
पर्यावरण की बलि देकर एनआर इस्पात करेगा अपना विस्तार
कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच 5 जनवरी को है जनसुनवाई
चक्रधर समारोह : 5 लाख का बजट और ऑनलाइन स्ट्रीमिंग
प्रशासन ने शुरू की तैयारी, कलाकारों के रिकॉर्डिंग आना शुरू
एमसीएच : कोरोना मरीजों को दे रहा जीवनदान
ठीक हुए मरीज पत्र लिखकर जता रहे एमसीएच का आभार, पत्र हुए वायरल
महामारी में बिजली के अलावा ज़िंदगियों को रोशन करता एनटीपीसी लारा
कोविड अनुरूप व्यवहार को आत्मसात कर हमने जनहानि नहीं होने दी : आलोक गुप्ता, सीजीएम
बच्चों को दूसरों के भरोसे छोड़ संक्रमण रोकने में जुटी माताएँ
मदर्स डे विशेष : समाज के लिए कलेजे के टुकड़ों से महीने दूर, पर बढ़ता गया प्यार
A New Threshold for Retribution
The truth is they had the intention of killing, they came in, fired mercilessly on vehicle knowing that there was a six year old sitting in that, escaped and openly claimed that they did it and we are
हिंसा का अनैतिक चेहरा
शहीद कर्नल विप्लव त्रिपाठी, अनुजा और अबीर के रक्त की छीटों को महसूस करिये और प्रतिकार करिये
भाऊ रंगकर्म और विचारधारा
रंगकर्मी अजय आठले की पहली पुण्यतिथि पर वैचारिक स्मरण
बस अब मौत की आखिरी हिचकी आने वाली है केआईटी को
2004 में मैं पहली बार किरोड़ीमल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी के नए बिल्डिंग को देखने गया, जो दो साल पहले यहां शिफ्ट हुई थी। बारहवीं का पेपर देने के बाद ख्वाब आईआईटी के थे लेकिन केआईटी को यूं ही देखने का मन किया,कई सारे मित्र यहीं थे, सो आ गया। किस्मत भी सपने तोड़कर मुझे 2006 में यहीं लाकर पटक दी। ये दौर केआईटी का स्वार्णिम दौर था, 4 ब्रांच और 900 से अधिक बच्चे इस 15 एकड़ के कैंपस में यत्र-तत्र-सर्वत्र दीख जाते। उस समय अभी वाली चकाचक नई बिल्डिंग की किसी ने कल्पना नहीं की थी जो आज शो-पीस बनकर रह गई है। बात कैंपस की करें तो सीनियर-जूनियर बड़े अदब से रहते, कुछ जिले के आदिसावी ग्राम से निकलकर आए तो कुछ पड़ोसी राज्यों से। इंजीनियरिंग कॉलेज अपने पूरे शबाब पर था। केआईटी शुरू से ही लार्जर दैन लाइफ रहा क्योंकि बाहर से आए बच्चों के पास तब भी हॉस्टल नहीं था और जो बनना शुरू हुआ वो आज अधूरा है और खंडहर है, करोड़ो रूपये का बंदरबाट इस निर्जन के नाम पर हो चुका। लैब अपना रूप ले ही रहे थे कि गिद्धों की नजर पड़ी। केआईटी शासन द्वारा प्रवर्तित स्ववित्तपोषित संस्था है, तब किसी ने नहीं सोचा होगा कि 15 साल बाद केआईटी का पतन शुरू हो जाएगा जबकि उसके पास आज एक 15 करोड़ से अधिक की बहुमंजिला इमारत है हालांकि इसकी जरूरत कभी थी ही नहीं उसे, पर गिद्धों को जो अपना घर भरना था। हर जगह लूट-खसोट होती गई। आर्थिक अनियमितता के जांच-क्लीनचिट-दोष-आरोप जारी हुए और चल रहा है। एक गिद्ध ने तो अपने ही कार्यकाल में हुए घोटालों को छिपाने के लिए और लोगों का मुंह बंद करने के लिए दो दर्जन आरटीआई लगा दिया है। खैर प्रशासनिक जांच में इसका रहस्योद्घाटन होगा, फिलहाल यह विषयांतर होगा। qqq साल 2012 के बाद छात्रों का इंजीनियरिंग से मोह भंग होना शुरू हो गया था जिसकी माया केआईटी में भी आई। जिस समय केआईटी को मजबूत करना था जिम्मेदारों ने खुद को मजबूत किया, आत्मनिर्भर बन गए, घोटाले-दर-घोटाले होते रहे। आदिवासी क्षेत्र का सबसे पहला कॉलेज सबसे मंहगा कॉलेज भी एक समय बन गया। एक तो मोहभंग और दूसरा फीस का बढ़ना केआईटी को गर्त में ले गया। स्व-वित्तपोषित संस्था के पास पैसे खत्म होने लगे। फिर डीएमएफ फंड से 6 महीने का स्टाफ खर्चा मिला लेकिन जब पैसा है ही नहीं तो कॉलेज कैसे चलेगा। अभी 13 महीने से यहां स्टाफ को तनख्वाह नहीं मिली है। बच्चों की तादाद 150 के आसपास है तब जब दो नए ब्रांच खुले। qqq भावी/भूतपूर्व इंजीनियर अपना विषय भले ही न जानते हों पर बोर्ड ऑफ गवर्नर (बीओजी) जरूर जानते हैं जो सारे फैसले लेती है ऐसे फैसले जो कभी समय पर नहीं हुए और जिनका कोई अर्थ नहीं। अभी तक बीओजी का मुखिया दूसरे जिले का होता था पर इस बार तो अपने जिले का है जिसने केआईटी को डूबने नहीं देने का वायदा भी किया, खुद मुझसे उन्होंने कहा कि मैं केआईटी को बंद नहीं होने दूंगा। मैंने मुख्यमंत्री से भी पूछा तो उन्होंने आश्वासन दिया। केआईटी के लिए एक नई तरकीब निकल कर आई कि यहां अन्य कोर्सेस खोले जाएं और केआईटी फिर से आत्मनिर्भर बनेगा। रायपुर से फतवा आया कि बीफार्मा खोला जाए। अब टेक्निकल कॉलेज और बीफार्मा में बदलेगा तो पुराने स्टाफ का क्या। वैसे भी फार्मा में जिले में बहुत शक्ति लगी है। कल शाम को बीओजी की एक और बैठक हुई मुखिया बोले केआईटी शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज बनेगा, पैसा डीएमएफ से पास हो गया है जल्द ही मिल जाएगा। केआईटी को शासकीय कॉलेज बनने का सब्ज बाग देखते-देखते दो दशक और हजारों छात्र निकल गए। केआईटी की नई बिल्डिंग आज एक विश्वविद्यालय है और एकदम नया चकाचक वाला कोविड केयर क्योंकि छात्र तो घर पर ही हैं। अगर केआईटी का समय रहते कुछ नहीं किया तो बस मौत की आखिरी हिचकी उसे आने ही वाली है।
कलेक्टर भीम सिंह ने भारी बारिश के बीच संभाला मोर्चा, देखें तस्वीरें
निगम अमला बीती रात से आयुक्त के साथ पूरे शहर में डटा हुआ है
तस्वीरों में देखें रायगढ़ में जनता कर्फ्यू का असर
22 मार्च यानी रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर जिले में भी जनता कर्फ्यू का असर देखने को मिला। दोपहर तक पूरा शहर स्वस्फूर्त बंद था। हर मुख्य मार्ग और बाजार बंद मिले। गली-कूचे तक कोई व्यक्ति बाहर नहीं निकला।
हरि बोल, जय जगन्नाथ के उद्घोष के साथ निकली रथयात्रा, देखें गैलरी
रायगढ़ में दो दिनों की रथयात्रा आयोजित होती रही है। इसी क्रम में आज रथ द्वितिया के दिन शहर के प्राचीन जगन्नाथ मंदिर से भगवान श्री को विधिविधान पूर्वक पूजा अर्चना पश्चात मंदिर के गर्भगृह तथा मंदिर परिसर से जय जगन्नाथ के जयघोष और घंट शंख ध्वनि के बीच ससम्मान बाहर निकाला गया। राजापारा स्थित प्रांगढ़ में मेले सा माहौल था और हजारो की संख्या में श्रद्धालु भक्तगण भगवान श्री के दर्शन करने के लिए पहुंचे हुए थे। इससे पहले कल भगवान जगन्नाथ की विधि विधान से पूजा की गई जिसे फोटोग्राफर वेदव्यास गुप्ता ने अपने कैमरे में कैद किया।
इप्टा रायगढ़ के 25वें राष्ट्रीय नाट्य समारोह एवं फिल्म फेस्टिवल की झलकियां
27 से 31 जनवरी तक पॉलिटेक्निक ऑडिटोरिम में इप्टा रायगढ़ द्वारा 25वां राष्ट्रीय नाट्य समारोह एवं फिल्म फेस्टिवल का आयोजन किया गया। जिसमें चार नाटक एवं दो फीचर फिल्में दिखाई गईं। समारोह की शुरुआत रायपुर के मशहूर रंगकर्मी मिर्जा मसूद को 10वां शरदचंद्र वैरागकर अवार्ड देकर की गई। यह कूवत सिर्फ रंगमंच रखता है जो वर्तमान सत्ता के मठाधीशों पर अजब मदारी गजब तमाशा नाटक के माध्यम से सीधे कटाक्ष कर सकता है। जहां एक मदारी को राजा बना दिया जाता है, शब्दों के अस्तित्व को खत्म कर दिया जाता है। बंदर राष्ट्रीय पशु बन जाता है। गांधी चौक नाटक में गांधीजी की प्रतिमा स्वयं यह चलकर वहां से हट जाती है कि जब रक्षक की भक्षक बन गए तो कोई क्या कर सकता है। नोटबंदी और जीएसटी पर गांव वाले सीधे प्रहार करते हैं। सुबह होने वाली है की लेखी अभिव्यक्ति की आज़ादी पर प्रतिबंध होने के बाद लोगों को जागरूक करने को किताब लिखती और किताब को ही फांसी हो जाती है। बोल की लब आजाद हैं तेरे लोगों को दर्शकदीर्घा में झकघोर के रख देती है। तुरूप और भूलन जैसी फिल्में लोगों के मनोरंजन के अलावा दमदार संदेश भी देती है। तो देखें इस शानदार नाट्य समारोह एवं फिल्म फेस्टिवल की कुछ झलकियां
हमारे बारे में
raigarhexpress.com आप का अपना वेब पोर्टल है | ब्रेकिंग, सनसनी और सोशल मीडिया के इस दौर में ख़बरों की खबर लेना और उसकी तह तक जाना हमारा मूल उद्देश्य है | अभी हम शुरुआती चरण में है, आप के सहयोग से हमें इसे नई ऊँचाइयों तक ले जाना है |

हमसे संपर्क करें :
Raigarh Express,
In front of pwd office, munna kabadi gali, chakradhar nagar Raigarh (C.G.) - 496001
9111912333, 9873953909

Mail : toraigarhexpress@gmail.com
Twitter : @raigarhexpress
Facebook : @ExpressRaigarh

Owner/Director : Mr.Subhash Tripathy
98261-29747
subhash.bayar@gmail.com

Editor : Mr. Arun Upadhyay
98279-33909
toraigarhexpress@gmail.com

Marketing Head : Abhinav Sharma
99265-99997
abhiji420@gmail.com
Citizen Journalist
raigarhexpress.com अपने पाठकों से सीधा जुड़ा है | आप हमारे सबसे बड़े सूचना स्त्रोत हैं | यदि आपके आसपास कोई घटना, दुर्घटना या भ्रष्टाचार हो रहा है या कोई वृतांत / प्रेरक सन्दर्भ / सामाजिक सरोकार / अनुभव हो तो आप हमसे साझा कर सकते हैं | आपके अनुसार हम आपकी गोपनीयता बरकरार रखेंगे और आपके कहने पर ही नाम उल्लेखित करेंगे |
हमें संदेश भेजने के लिए